अब तो चुप्पी तोड़ो…

दुनिया भर में घूम खोजते रहेगुंडों और हत्यारों को,घरों, गली-मोहल्लों में अपनेखोजा नहीं कभी अन्याय और शोषण करने वालों को। कहलाते वो ही नहीं मुजरिमजो किसी की हत्या हैं करते,मुजरिम…